Pages in topic:   [1 2 3] >
अनुवाद की दर का सवाल
Thread poster: Lalit Sati

Lalit Sati  Identity Verified
India
Local time: 03:03
Member (2010)
English to Hindi
+ ...
Jul 24, 2012

प्रिय साथियो,

अनुवाद की सही दर क्या हो? क्या कम दर से समझौता कर ही काम पाया जा सकता है? ऐसी ऊहापोह से हम सभी रूबरू होते हैं। मुझे लगता है कि इस मंच पर हमें इस बारे में खुलकर बात करनी चाहिए। एक दूसरे के विचारों को, अनुभवों को साझा करना चाहिए। यह सही है कि कई बार कम दर पर कई एजेंसियां अनुवाद करा ले जाती हैं। इसका कारण यह है कि नए अनुवादकों को अनुवाद की दरों की जानकारी नहीं रहती है। दूसरा एक कारण है कि कई एजेंसियां, कई लोग स्तरहीन अनुवाद कराकर फटाफट पैसा बनाने के चक्कर में लगे रहते हैं। इससे कुल मिलाकर अनुवाद को एक पेशे के तौर पर अपनाते हुए अपना जीवन निर्वाह करने वाले मेहनती अनुवादकों के सामने मुश्किल खड़ी हो जाती है। मेरा मानना है कि हमें स्वयं अच्छा अनुवाद करने के लिए सतत प्रयासरत रहना चाहिए। फ़र्ज़ी अनुवादकों द्वारा मार्केट खराब होने से बचने के लिए संगठित होना चाहिए और इन सबसे महत्वपूर्ण यह कि अनुवाद की सही दर की मांग करनी चाहिए।
मैं अपनी बात को थोड़ा स्पष्ट करना चाहूंगा। प्राय: होता यह है कि अनुवाद की दुनिया में प्रवेश करते समय अनुवाद की दर का पूरा हिसाब किताब दिमाग में स्पष्ट नहीं होता है। उदाहरण के लिए - शुरुआत में किसी को लग सकता है कि चालीस पैसा भी मिलेगा तो दिन भर में 4000 शब्द अनुवाद कर 1600 रुपये कमा लेंगे और इस तरह महीने के 42000 हो जाएंगे (हालांकि वर्ष भर के कुल काम को देखा जाए तो 4000 शब्द प्रतिदिन का औसत लगभग नामुमकिन है)। हकीकत में ऐसा होता नहीं है। कभी काम आता है, कभी नहीं आता है, इंसान हैं तो छुट्टी की भी ज़रूरत होती है। अनुवाद के लिए आने वाली सामग्री भी विविधतापूर्ण होती है। कभी आप 4000 शब्द खींच लेते हैं और कभी तो ऐसी स्थिति होती है कि 1000 शब्द करने में पूरा दिन निकल जाता है। अनुवाद करने के साथ ही साथ आपको नमूना अनुवाद करना होता है, चिट्ठी पत्री लिखनी होती है, कंप्यूटर संबंधी नई बातें सीखनी होती हैं ................ शुरुआत में ये सब बातें आंखों से ओझल रहती हैं, एक सरल-सा गणित सामने रहता है - 0.40 X 4000 = 1600 ................ धीरे-धीरे पर्याप्त से दिखने वाले चालीस पैसे की हकीकत सामने आने लगती है। "ठीक-ठाक काम" मिलने रहने के बावज़ूद 6-7 महीने बाद पता लगता है कि प्रति माह दस हजार का औसत भी नहीं आ पा रहा है। यह तो हुआ एक पहलू - अनुवाद दर संबंधी हिसाब किताब की अस्पष्टता का। दूसरा, शुरुआत में यह जानकारी नहीं रहती है कि कोई अनुवाद कंपनी प्रति शब्द कितने तक पैसा देती होगी। स्वयं को ही लगता है कि 1 रुपया प्रति शब्द मांगना तो ज्यादती हो जाएगी। जबकि ऐसा नहीं है। यदि अनुवादकों के बीच जागरूकता बढ़े, सही दाम मांगे जाएं तो 1 रु. प्रति शब्द देने पर कंपनी को कोई घाटा नहीं होगा। कई बार ऐसे कई दयालु लोग होते हैं जो सोचते हैं कि सब मज़दूर को ही मिल जाएगा तो मालिक बेचारा क्या खाएगा। तो ऐसी चिंता की कोई बात नहीं है।
जो लोग ठीक-ठाक अनुवाद कर लेते हैं और काम का थोड़ा अनुभव रखते हैं, ऐसे अनुवादक शायद ही भारत में भारतीय एजेंसियों या भारत के संस्थानों से 1 रुपये से कम पर काम करना चाहें। प्रोज़ डॉट कॉम पर अनुवाद की दर की गणना का एक उपाय है जिससे आप अपने वर्ष भर के खर्चों, प्रति माह मिलने वाले काम और तीसेक हजार की मासिक आय को मानकर हिसाब लगाएं तो प्रति शब्द कम से कम 1 रु 20 पैसे लेना चाहिए। यह एक मोटा अनुमान है।
सभी अनुवादक मित्रों से अनुरोध है कि इस मुद्दे पर अपनी राय रखें। इससे जागरूकता बढ़ेगी और सही दाम पर सही काम की प्रवृत्ति को बढ़ावा मिलेगा।

सादर,
ललित सती


 

Devendra Singh  Identity Verified
India
Local time: 03:03
Member (2011)
English to Hindi
+ ...
Jul 24, 2012

प्रिय मित्रों,

ललित जी की बात एकदम दुरुस्त है। ऐसा दिहाड़ी मजदूरों के बीच भी नहीं होता। हर शहर के लेबर चौराहे पर चले जाइए। आपसी समझ से उन मजदूरों ने एक न्यूनतम दिहाड़ी बांध रखी है। इससे कम पर कोई भी जाने के लिए राजी नहीं होता। इससे ऊपर ही वे कोई भाव-ताव करते हैं। अब अगर पढ़े लिखे अनुवाद पेशेवरों में इतनी भी समझ नहीं है, तो फिर क्या कहा जा सकता है। अनुवाद के पेशे में बहुत से उन लोगों को वास्तव में हिंदी ही नहीं आती है, अंग्रेजी या अन्य विदेशी भाषा की बात ही दूर है। इसलिए ऐसे लोगों के लिए तो 25 पैसे प्रति शब्द की दर भी बहुत है।
चूंकि यह आउटसोर्सिंग का खेल बेहद निराला हो गया है। इसमें एक वास्तविक ग्राहक या ग्राहक कंपनी से प्रोजेक्ट हासिल करने के बाद लगातार सब-कॉन्ट्रैक्टिंग की जाती है। इसलिए 0.06 यूरो प्रति शब्द की दर दर अनुवादक तक आते-आते 50-60 पैसे रह जाती है, क्योंकि अगर अनुवादक से पहले चार स्तर हैं तो उनके कमीशन या प्रॉफ़िट मार्जिन में ही तीन चौथाई से ज्यादा हिस्सा निकल जाता है।
ललित जी की पहल काबिल-ए-तारीफ है। इसमें सभी पेशेवर और सुयोग्य अनुवादक साथियों को शरीक होना चाहिए। ऐसा करना एक समुचित पारिश्रमिक के लिए ही नहीं ज़रूरी है, बल्कि इससे अनुवाद की उच्च गुणवत्ता भी सुनिश्चित होगी। मेरा तो मानना है कि बिना किसी ट्रांसलेशन टूल के प्रति शब्द अनुवाद की न्यूनतम स्वीकार्य दर 1.20 रुपये और अनुवाद टूल के साथ 1.50 रुपये प्रति शब्द अवश्य होनी चाहिए। वास्तविक ग्राहक से ट्रांसलेशन फर्में काफी ऊंची दरें प्राप्त करती हैं, ऐसे में पेशेवर रवैया तो यही होगा कि एक सम्मानजनक काम के लिए सम्मानजनक पारिश्रमिक भी मिले। यह दर इसलिए भी अधिक नहीं है, क्योंकि इसमें आयकर कटौती (टीडीएस) भी की जानी है।

सादर,

देवेंद्र

[Edited at 2012-07-24 21:01 GMT]

[Edited at 2012-07-24 21:02 GMT]


 

Ashutosh Mitra  Identity Verified
India
Local time: 03:03
Member (2011)
English to Hindi
+ ...
अनुवाद दर और साथ ही भुगतान की समय सीमा.. Jul 29, 2012

ललित भाई, देवेन्द्र जी!

आप दोनो का कहना सर्वथा उचित है, इसके साथ ही हमें भुगतान की समय सीमा पर भी ध्यान देना चाहिये. यह दोनो समस्याएं भारतीय एजेंसियों और आउटसोर्स करने वाले साथी अनुवादकों के साथ अधिक है।

सादर,

आशु


 

vinod sharma  Identity Verified
India
Local time: 03:03
Member (2011)
English to Hindi
+ ...
अनुवाद की दर और भुगतान की समय सीमा Jul 29, 2012

बहुत ही सामयिक और आवश्यक प्रश्न उठाया गया है। भारत के परिप्रेक्ष्य में यह प्रश्न बड़ी ज्वलंत समस्या से जुड़ा है। सब को इस बात पर विचार करने की आवश्यकता है। सवाल येन-केन प्रकारेण काम हासिल करने का नहीं है। जैसा कि ललितजी ने एक अनुवादक की आमदनी का जो गणित बताया है, उस पर हमें गंभीरता से विचार करना होगा। सबसे पहले तो मैं प्रोज.कॉम के कर्ता-धर्ताओं से अनुरोध करना चाहूँगा कि उनके इस मंच की काफी प्रतिष्ठा रही है। पिछले कुछ समय से प्रोज एक सब्जी मंडी की शक्ल लेता जा रहा है। हर पेशे में मजदूरी या पारिश्रमिक का एक न्यूनतम स्तर होता है, किंतु अनुवाद क्षेत्र में न्यूनतम कुछ भी नहीं है। तो पहल तो अनुभवी, योग्य और कुशल अनुवादकों को ही करनी होगी। जैसा कि सभी कह रहे हैं एक न्यूनतम दर पर आम सहमति बना कर यह दृढ़ निश्चय करना होगा कि इस दर से कम पर किसी हालत में काम नहीं करेंगे। नवागत अनुवादकों से एजेंसियां कब तक और कहाँ तक काम करवा सकेंगी। मेरा विनम्र अनुरोध है कि सभी अनुवादक इस शृंखला में अपनी टिप्पणियाँ दर्ज कर के एकजुटता का परिचय दें। साथ ही सभी अपनी -अपनी तरफ से एक मेल proz.com को लिखें कि इस बात की निगरानी की जाए कि सीमा से नीची अनुवाद दरों पर जॉब पोस्ट न किए जाएँ। यदि कोई ऐसे जॉब पोस्ट करता है तो उन्हें हटा दिया जाए। इस प्रयोजन के लिए निम्न दरों को व्यवहार्य न्यूनतम दर माना जा सकता है
भारतीय रुपए में मानवीय अनुवाद : 1.20
कंप्यूटर सहाय्यित साधन (CAT) : 1.50
यूरो में ↓ 0.025
पाउंड में : 0.02
डॉलर में : 0.03

इसी के साथ भुगतान की समय सीमा किसी भी हालत में 30 दिन से अधिक न हो।
मुझे आशा है कि आप एक-एक मेल प्रोज को अवश्य भेजेंगे। मैं एक मेल लिख चुका हूँ।
सादर,
विनोद शर्मा


Ashutosh Mitra wrote:

ललित भाई, देवेन्द्र जी!

आप दोनो का कहना सर्वथा उचित है, इसके साथ ही हमें भुगतान की समय सीमा पर भी ध्यान देना चाहिये. यह दोनो समस्याएं भारतीय एजेंसियों और आउटसोर्स करने वाले साथी अनुवादकों के साथ अधिक है।

सादर,

आशु


[Edited at 2012-07-29 07:53 GMT]

[Edited at 2012-07-29 09:01 GMT]


 

Bhavna Mishra
India
Local time: 03:03
Member (2016)
English to Hindi
+ ...
स्वागत योग्य पहल Jul 29, 2012

मुझे भी इस अभियान में अपने साथ समझें...

यह कदम उठाने में हमें देर ज़रूर हुई है लेकिन परिवर्तन जब आ जाये तभी अच्छा
शायद हम काम का परिमाण कम हो जाने की चिंता के कारण ऐसी सार्थक पहल से अब तक बचते रहे, पर यदि गौर करें तो हम पाएंगे कि सम्मानजनक दर पर मिलने वाला काम, चाहे उसका परिमाण कम ही क्यों ना हो, हमें शोषण से तो बचायेगा और इसके साथ ही हम घटिया दरों पर मिलने वाले प्रोजेक्ट्स पर काम करने की बजाय अपना वह समय और ऊर्जा अन्य सकारात्मक कार्यों के लिए संचित कर सकते हैं. परिवार के साथ समय बिताकर तरोताजा अनुभव कर सकते हैं.
चार कम दरों वाले अनुवाद प्रोजेक्ट पर अपनी मेहनत ज़ाया करने से कहीं अच्छा है कि हम सम्मानजनक दर वाला एक ही प्रोजेक्ट करें और उस पर बेहतरीन काम करें.
इससे हमारी साख और हमारी एकता दोनों अक्षुण्ण रहेंगे.


इस मंच पर उपस्थित अन्य अनुवादक साथियों से भी आग्रह है कि कृपया इस सार्थक पहल में हमारा साथ दें और अपनी सहमति टिप्पणी के माध्यम से दर्ज करें.
यह परिवर्तन सभी अनुवादकों के शोषण के विरुद्ध है और एक पेशे के रूप में अनुवाद को सशक्त करने का एक प्रयास है.

इससे जुड़े साथियों को बधाई!

और आगे जुड़ने वाले साथियों को अग्रिम धन्यवाद !!


भावना मिश्रा
स्वतंत्र अनुवादक


 

Kapil Swami  Identity Verified
India
Local time: 03:03
English to Hindi
Sep 9, 2012

ललित भाई ने अनुवादकों से संबंधित सबसे महत्‍वपूर्ण विषय को उठाया है। अन्‍य साथियों के 1.20 प्रति शब्‍द की दर के सुझाव से मैं पूरी तरह सहमत हूं। सवाल यह है कि इस दर को सर्वमान्‍य (अधिकतम संभव पैमाने पर) कैसे बनाया जाए। मुझे लगता है‍ कि इसका एकमात्र उपाय, जैसा कि अन्‍य लोगों ने भी सुझाय है, अनुवादकों का संगठित होना और सामूहिकता की भावना पैदा करना है। इसके लिए हम सभी को निरंतर प्रयास करते रहने होंगे। इस संबंध में अनुवादक संघ जैसी पहल काबिलेतारीफ है। हमें इस मुद्दे पर इंटरनेट पर मौजूद विभिन्‍न मंचों पर निरंतर लिखते रहना चाहिए। इससे इस क्षेत्र से अपेक्षाकृत कम जानकार लोगों को फायदा होगा। इसमें वरिष्‍ठ अनुवादकों की अधिक महत्‍वपूर्ण भूमिका हो तो ज्‍़यादा अच्‍छा होगा। साथ ही नए (या अपेक्षाकृत नए) अनुवादकों को अनुवादकों से जुड़े तमाम मंचों पर दर जैसे महत्‍वपूर्ण मसले पर लगातार जिज्ञासा सामने रखनी चाहिए। हमारी जानकारी कम होने और समूहबद्धता न होने का ही फायदा तमाम एजेंसियां उठा रही हैं। अत: मैं तमाम साथी अनुवादकों से अपील करना चाहता हूं कि वे इस महत्‍वपूर्ण मुद्दे पर अपने विचार प्रकट करें और इस पर लगातार जागरूकता पैदा की जाए। क्‍या हम भविष्‍य में ज्‍़यादा से ज्‍़यादा अनुवादकों द्वारा हस्‍ताक्षरित सामूहिक घोषणापत्र (ऑनलाइन) के बारे में विचार कर सकते हैं जिसमें अनुवाद की न्‍यूनतम दर का उल्‍लेख किया गया हो।

कपिल स्‍वामी
हिन्‍दी अनुवादक


[Edited at 2012-09-09 07:24 GMT]


 

PRAKAASH  Identity Verified
India
Local time: 03:03
Member (2007)
English to Hindi
+ ...
अनुवादकों की एकता और अपने पेशे के प्रत Sep 20, 2012

नमस्‍कार मित्रों,

आज अनुवादकों के बीच एक बहुत बड़ी समस्‍या है पेशे की समझ का अभाव। यानी उत्‍कृष्‍ट अनुवादक आपको तीस चालीस पैसे लेते हुए भी मिल जाएंगे और घटिया अनुवादक उनसे उच्‍च दर भी। स्‍वतंत्र अनुवाद कार्य को अभी भी कई अनुवादक महज़ साइड बिज़नेस के तौर पर ही लेते हैं और जो हाथ पड़े, वही अच्‍छा कि तर्ज पर सस्‍ते में भी गुज़ारा कर लेते हैं। चांदी काटने के लिए उनके पास तनख्‍वाह का एक स्‍थायी विकल्‍प मौजूद रहता है।

कई पूर्णरूपेण स्‍वतंत्र अनुवादक भी ज्‍यादा काम और ज्‍यादा पैसे के मोह को त्‍याग नहीं पाते चाहे इसके लिए दर को कितना ही क्‍यो न गिराना पड़ जाए।

स्‍वतंत्र अनुवादक का पेशा एक फ़ायदेमंद पेशा है, किसी भी और बिज़नेस से अधिक फ़ायदेमंद अगर आप इसे पूरी शिद्दत के साथ करें। इस पेशे में सस्‍ते की पूछ तो है ही, लेकिन उत्‍कृष्‍ट गुणवत्ता प्रदान करने वाले अनुवादकों को उससे अधिक मान और दर्जा भी दिया जाता है। यानी अगर आप इस पेशे में समर्पित भाव से काम करें तो कोई कारण नहीं कि आप धन और यश दोनों न कमाएं। हां, सब्र की दरकरार ज़रूर होती है। मैं आपको ये बता दूं कि हो सकता है सरकार बुढ़ापे में आपका साथ छोड़ दे, यानी पेंशन न दे, लेकिन अनुवाद का ये पेशा कभी आपको भूखा न मरने देगा। आप जितना पेशेवराना रूप अपनी युवावस्‍था में अपनाएंगे, अनुभवी होने पर आपके लिए पैसा कमाना और इज्‍जत पाना उतना ही सरल हो जाएगा।

इन सारी बातों को समझने समझाने के लिए सभी स्‍वतंत्र और नौकरीपेशा अनुवादकों का एक मंच पर होना अत्‍यंत आवश्‍यक है। एक ही उद्देश्‍य को लेकर अलग अलग मंच बन चुके हैं। लेकिन नए अनुवादकों को जोड़ने के काम में अभी भी कोई मंच इतना सफल नहीं हुआ है। मैं स्‍वयं पहले श्री रवि कुमार जी के साथ जुड़ने की सोचते सोचते कब सुयश भाई के साथ जुड़ गया, पता ही नहीं चला। खैर, सुयश भाई और हम सभी मित्र लगभग एक रूपए की दर को न्‍यूनतम दर स्‍थापित करने के लिए प्रयासरत हैं। एक अनुवादक मित्र बड़ी चिंता में बोल उठे थे, भाई, मैं तो फ़्रैशर हूं, मुझे कौन एक रूपए की दर पर काम देगा। उन्‍हें समझाने की हममें से कई मित्रों ने कोशिश की थी।

मैं तो चाहूंगा कि हम सभी अनुभवी और नवागंतुक अनुवादक एक मंच पर आएं और जो अनुवादक अनुवाद क्षेत्र से जुड़ने जा रहा हो, उन्‍हें अपने साथ जोड़ें। मेरे विचार में तो किसी शुल्‍क की आवश्‍यकता नहीं है, जिससे जो सहायता बन सके, करे। एक मंच पर हम विचार साझा करें। अनुवाद क्षेत्र में अवसर आने पर अच्‍छे नवअनुवादकों का चुनाव करके अनुभवी अनुवादक कंपनी या एजेंसी को उनके नाम की सिफ़ारिश करें। और अच्‍छे अनुवादक एक समूह में रहकर काम करें और अधिक काम होने पर एक दूसरे से उसे शेयर करें। इस तरह सबका भला होगा और हम अनुवाद दर को महंगाई के हिसाब से यथोचित बढ़ाते जाने में सफल हो सकेंगे।

आपका शुभाकांक्षी मित्र,
प्रकाश शर्मा

[Edited at 2012-09-20 04:46 GMT]


 

Balasubramaniam L.  Identity Verified
India
Local time: 03:03
English to Hindi
+ ...
भूगल और दरों का संबंध Sep 27, 2012

अनुवाद दरों के संबंध में मेरा अनुभव यह रहा है कि यह अलग-अलग भूगोलों के लिए अलग-अलग रहता है। इसलिए कोई एक न्यूनतम दर की बात करना ठीक नहीं है।

मेरे अनुभव में दरों का भौगोलिक गणित कुछ-कुछ इस तरह का है:

यूएसए: -0.12 - 0.15 डालर (6 से 7 रुपए) प्रति शब्द

यूके, कनाडा, जर्मनी, जापान: - 0.10 से 0.12 डालर (5 से 7 रुपए) प्रति शब्द

अन्य पश्चिमी देश: 0.08 से 0.10 डालर (4 से 5 रुपए) प्रति शब्द

चीन, थाईलैंड, मलेशिया, ब्राजील आदि: 0.06 से 0.08 डालर (3 से 4 रुपए) प्रति शब्द

भारत: 1.5 से 2 रुपए प्रति शब्द

भारतीय एजेन्सियों की दर अत्यंत कम होती है। इसके कई कारण हैं। बहुत सी भारतीय एजेन्सियाँ वास्तव में अनुवादक होते हैं जो विदेशी एजेन्सियों से काम प्राप्त करके कम दरों पर अन्य अनुवादकों से कराते हैं। ये सीधे अंतिम ग्राहकों से काम नहीं प्राप्त करते।

अनुवादकों को करना यह चाहिए कि वे इस तरह की भारतीय एजेन्सियों से काम प्राप्त न करके, स्वयं ही सीधे विदेशी एजेन्सियों से काम प्राप्त करें, तब उन्हें ऊपर बताई गई ऊँची दरें प्राप्त हो सकती हैं।


[2012-09-27 02:30 GMT पर संपादन हुआ]


 

Pundora  Identity Verified
India
Local time: 03:03
English to Hindi
+ ...
स्वागत योग्य चर्चा Sep 27, 2012

ललित भाई की यह चर्चा सराहनीय और सामयिक है। अनुवादक मरे जा रहे हैं और फायदा कोई और ही ले जा रहा है। गाना याद आता है - हंस चुगेगा दाना तिनका,...........

अनुवाद की दर जितनी अधिक होगी, बिचौलिए उतने ही हटते जाएंगे क्योंकि उनका मार्जिन कम होता जाएगा। इसका सीधा लाभ अनुवादकों को मिलेगा। लेकिन इसके लिए हमें एकजुट होना होगा और धैर्य बनाए रखना होगा। मेरा आशय है कि जैसा कई साथियों ने कहा हम काम भले कम लें पर अच्छे रेट का ही लें। उदाहरण के लिए, अगर हमें 10 घंटे काम करके 8000 रुपए मिल जाते हैं, भले इंतजार क्यों न करना पड़े, तो उसके लिए घटिया दर पर काम करके 30 घंटे क्यों मरें? मेरा सुझाव है कि अनुवादक साथी जब काम लेते हैं तो जहां संभव हो काम को देखकर यह ध्यान में रखें कि प्रति घंटा उन्हें कितना मिलेगा। इसी को आधार मानते हुए प्रति शब्द की दर तय करें। खाली समय का इस्तेमाल अपने परिवार को देने में और जैसा भावना जी ने कहा खुद को तरोताजा बनाए रखने में ही क्यों न करें? काम कहीं नहीं जाएगा, अनुवादकों के पास ही आएगा। होगा यह कि बिचौलिए हटते जाएंगे। घटिया दरों के कारण उनकी संख्या बढ़ती जाएगी और बढ़ती जा रही है। और, इसमें निसंदेह कम दरों पर काम करने वाले हमारे साथियों का ही हाथ है। अधिकांश साथियों के मन में यह रहता है कि यदि यह काम मैंने नहीं लिया तो कोई और ले जाएगा (शुरू में मैं भी ऐसा ही सोचता था)। लेकिन थोड़ा सोचें, तो कम रेट वाले काम पर जब दूसरे व्यस्त हो जाएंगे तो आपके पास अच्छे रेट वाला काम आएगा। हां, आपका काम भी अच्छा होना चाहिए। यदि अनुवाद में रहना है तो पूरी रुचि, मेहनत और लगन से अपने काम को सुधारने पर जरूर ध्यान दें। अच्छी एजेंसियां आपके पास जरूर आएंगी।

बहरहाल, यह चर्चा स्वागत योग्य है और अनुवादक साथियों को अपनी दरें बढ़ाने के लिए जरूर प्रेरित करेगी।

[Edited at 2012-09-27 04:28 GMT]


 

Lalit Sati  Identity Verified
India
Local time: 03:03
Member (2010)
English to Hindi
+ ...
TOPIC STARTER
कछुआ निरंतर चलता रहे... Feb 14, 2013

बचपन की कहानी यही बताती है कि कछुआ अनथक प्रयास करता रहा और वह खरगोश से जीत गया। स्वतंत्र अनुवादकों के लिए उस कहानी का यही सबक है कि अनुवाद की सही दर, सही अनुवाद और समय पर भुगतान जैसे मुद्दों पर हमारे प्रयास जारी रहें। लोगों का ध्यान इस ओर आकृष्ट होगा। मैंने यहां की गई अपनी एक पोस्ट को फेसबुक में टाइमलाइन पर साझा किया था, जिसे वहां से उठाकर जालस्थल पर एक महत्वपूर्ण ठिकाने और हिंदी के एक चर्चित वेबस्थल ने प्रकाशित किया है। आप भी देखें और टिप्पणी करें -

http://mohallalive.com/2013/02/13/an-important-post-about-translation/


 

Ashutosh Mitra  Identity Verified
India
Local time: 03:03
Member (2011)
English to Hindi
+ ...
एक और सम्माजनक अनुवाद प्रस्ताव... May 25, 2013

Dear Linguist,

I have a new translation job (English to Hindi). The project is
for long term co operation and we would expect you to work with us
for about 2 months with a daily output of around 2500 words a
day.

The projects involves a translation of comic books to Hindi.

As it is a long term project with great amount of words so we have
decided to offer a price of Re. 0.25/word.

If interested, we would like to start with you as soon as
possible.

Also, please send your most updated resume along with your reply.


[Edited at 2013-05-25 14:39 GMT]


 

Balasubramaniam L.  Identity Verified
India
Local time: 03:03
English to Hindi
+ ...
यह जॉब पहले किसी विदेशी एजेंसी ने प्रो May 26, 2013

कॉमिक का अनुवाद करने से संबंधित यह जॉब कुछ दिन पहले किसी विदेशी एजेंसी ने प्रोज़.कॉम में दिया था।

http://www.proz.com/job/769282

शायद इस देशी एजेंसी ने यह काम प्राप्त किया है और उसे सबकोंट्रैक्ट कर रहा है।

प्रोज़.कॉम के रेट कैलक्युलेटर के अनुसार अंग्रेजी से हिंदी में अनुवाद करने के लिए औसत दर 0.10 से 0.12 USD प्रति शब्द है, यानी, 56 रुपए प्रति डॉलर (आज की विनिमय दर) के हिसाब से 5.6 रुपए से लेकर 6.70 रुपए प्रति शब्द है।

थोड़ा और हिसाब लगाने से 25 पैसा प्रति शब्द की दर इस औसत दर से 20 से 25 गुना कम है।

जो भी अनुवादक प्रोज़.कॉम का सदस्य है वह जानता है कि विदेशी एजेंसियों से 5 से लेकर 7 रुपए प्रति शब्द तक की दर प्राप्त की जा सकती है। ऐसे में कौन 25 पैसे प्रति शब्द के लिए राज़ी होगा?

शायद इसीलिए इस देशी एजेंसी ने यह जॉब प्रोज़.कॉम पर पोस्ट न करके सीधे अनुवादों को ईमेल किया है। यदि प्रोज़.कॉम में यह जॉब पोस्ट करता तो वह इस वेबसाइट से बैन ही हो जाता!


 

Lalit Sati  Identity Verified
India
Local time: 03:03
Member (2010)
English to Hindi
+ ...
TOPIC STARTER
चवन्नीछापों का भंडाफोड़ कैसे हो May 26, 2013

ऐसे चवन्नी प्रस्ताव देने वालों के बारे में सभी अनुवादक साथियों को सजग करने, जागरूक करने के लिए और क्या उपाय हो सकते हैं, इस पर कोई साथी प्रकाश डाले। "ProZ.com Member" पर मैंने एक मेल डाला, लेकिन वह किसी को पहुंचा ही नहीं। जाने कहां अटक गया?

[Edited at 2013-05-26 06:04 GMT]


 

Ashutosh Mitra  Identity Verified
India
Local time: 03:03
Member (2011)
English to Hindi
+ ...
कॉमिक बुक का वह काम... May 26, 2013

बाला जी,

वह काम भी कम मजेदार नहीं है...उस काम में गूगल का अनुवाद किये हुए काम को प्रूफरीड करना था। दर भी अंतर्राष्ट्रीय मानकों से काफी कम था। प्रति कॉमिक्स 25 डॉलर और गूगल का माशाअल्लाह अनुवाद..अनुवाद के नाम पर क्या होगा आप समझ ही सकते हैं।
दरअसल, उसे तो पूरा अनुवाद ही कहिए। दाम कम करने के लिए उसे प्रूफरीडिंग का नाम दे दिया गया था।
वो अभी भी चल रहा है, जहाँ तक मुझे जानकारी है उनके सिस्टम पर काम करना है औप वो किसी और को काम नहीं दे रहे हैं। कारण वही टूल है जिस पर अनुवाद करना है। वह टूल ऑनलाइन है।

दुनिया रंग रंगीली बाबा, दुनिया रंग रंगीली।

सादर


 

Balasubramaniam L.  Identity Verified
India
Local time: 03:03
English to Hindi
+ ...
नौकरीशुदा अनुवादक May 26, 2013

Lalit Sati wrote:

ऐसे चवन्नी प्रस्ताव देने वालों के बारे में सभी अनुवादक साथियों को सजग करने, जागरूक करने के लिए और क्या उपाय हो सकते हैं, इस पर कोई साथी प्रकाश डाले।


चूँकि 25 पैसे, 50 पैसे वाले काम भी विज्ञापित होते हैं, इन दरों पर काम करने के लिए तैयार अनुवादक भी होते होंगे। निश्चय ही ये इन दरों पर घर का खर्चा तो नहीं ही निकाल पाते होंगे। ऐसा लगता है कि ये कोई और स्थायी नौकरी करते होंगे और खाली समय में थोड़ा बहुत अनुवाद कर लेते होंगे। ऐसे लोगों के लिए जो भी पैसा हाथ लग जाता है, वह वांछनीय होता है, और वे सही मार्केट रेट प्राप्त करने की फिराक में नहीं रहते हैं। चाय-पानी का पैसा मिल रहा है, यही सोचकर चुप रह जाते हैं।

पर इन लोगों के कारण पूरे तौरे पर अनुवाद पर निर्भर फुलटाइम फ्रीलान्सरों का जीना बेहाल हो जाता है, क्योंकि ऐजेंसियाँ (भारतीय एजेंसियाँ) 25 से 50 पैसे से आगे जाने की ज़रूरत ही नहीं महसूस करते हैं।

पर इन पार्टटाइम अनुवादकों के लिए उच्च स्तर का अनुवाद करने में कठिनाई तो आती ही है और समय पर काम लौटाना भी इनके लिए मुश्किल ही रहता होगा। ऑफिस से छूटने के बाद जो समय बचता है और रवि-शनि और छुट्टियों के दिनों ही ये अनुवाद का काम कर सकते हैं। हाँ यह भी संभव है कि इनमें से कई सरकारी नौकरी में हों जहाँ काम कुछ होता ही नहीं है, और वे ऑफिस में बैठकर ही बाहर का अनुवाद काम कर लेते होंगे।

यह भी जोखिम भरा सौदा ही है, कहीं पकड़े गए, तो नौकरी से हाथ धोना पड़ सकता है।

इन पार्टटाइम अनुवादकों को समझना चाहिए कि यदि वे मार्केट रेट पर (यानी 5-6 रुपए प्रति शब्द या 0.10-0.12 डालर प्रति शब्द) काम करें तो वे इतना कमा सकते हैं कि नौकरी को छुट्टी देकर आराम से अनुवाद के बल पर ही घर चला सकते हैं, यानी फुलटाइम फ्रीलान्सर बन सकते हैं।

पर कई लोगों में यह छलाँग लगाने की हिम्मत नहीं होती है, और वे यही सोचते हैं कि लगी-लगाई नौकरी को क्यों छोड़ें, और यदि वह सरकारी नौकरी हो, जिसमें पेंशन जैसी सुविधाएँ भी हों, तो वे और भी अधिक कतराते हैं।

इन लोगों को समझना यह चाहिए कि भले ही वे पार्टटाइम अनुवाद करें, पर 25-50 पैसे पर क्यों करें, क्यों न 5-6 रुपए पर करें? इसमें तो कुछ खोने के लिए है ही नहीं, पाने के लिए ही है और वे अभी जो चाय-पानी का कमा रहे हैं, उससे 20-25 गुना कमाने लगें, तो इसमें क्या बुरा है?

मुझे लगता है, जब तक ये अनुवादक प्रोज़.कॉम जैसे मंचों के सदस्य नहीं बनते और अनुवाद बाज़ार के काम करने को बेहतर रीति से समझे नहीं, तब तक वे न तो अपना भला कर सकेंगे न ही हमारे साथ बुरा होने को रोक सकेंगे।

तो हमें यही करना चाहिए कि हम जितने भी अनुवादकों को जानते हों, उन सभी को प्रोज़.कॉम का सदस्य बनवा दिया जाए - भले ही शुरुआत में वे मुफ्त का सदस्य ही बनें।

और जैसे आशुतोष ने किया है, अपनी वेबसाइटों आदि में अनुवाद व्यवसाय से संबंधित बातों की खूब चर्चा करनी चाहिए ताकि अनुवादकों का ज्ञान-वर्धन हो। अख़बारों में भी इन विषयों पर लेख आदि प्रकाशित कराने चाहिए।


 
Pages in topic:   [1 2 3] >


To report site rules violations or get help, contact a site moderator:

Moderator(s) of this forum
Amar Nath[Call to this topic]

You can also contact site staff by submitting a support request »

अनुवाद की दर का सवाल

Advanced search






TM-Town
Manage your TMs and Terms ... and boost your translation business

Are you ready for something fresh in the industry? TM-Town is a unique new site for you -- the freelance translator -- to store, manage and share translation memories (TMs) and glossaries...and potentially meet new clients on the basis of your prior work.

More info »
Protemos translation business management system
Create your account in minutes, and start working! 3-month trial for agencies, and free for freelancers!

The system lets you keep client/vendor database, with contacts and rates, manage projects and assign jobs to vendors, issue invoices, track payments, store and manage project files, generate business reports on turnover profit per client/manager etc.

More info »



Forums
  • All of ProZ.com
  • Term search
  • Jobs
  • Forums
  • Multiple search