दस,पंद्रह या तीस दिनों के बाद.....?
Thread poster: Ashutosh Mitra

Ashutosh Mitra  Identity Verified
India
Local time: 17:53
Member (2011)
English to Hindi
+ ...
Nov 20, 2012

मित्रों,

कभी आपने सोचा है या ध्यान दिया है कि...अधिकांश एजेंसियां आपसे काम का अनुबंध करते समय 'इनवॉयस की तारीख से दस पंद्रह या तीस दिनों के बाद' भुगतान का वादा करती हैं। मुझे समस्या 'के बाद' शब्द से है। आप लोगों को नहीं लगता कि इसे 'के भीतर' होना चाहिये।

करेला नीम पर तब चढ़ जाता है जब आपको उनको भुगतान के लिये रिमाइन्डर भेजना पड़ता है। दो एक बार तो मैने यह भी जवाब सुना कि,"क्या करें सर अभी हमें ही भुगतान नहीं मिला है"

बड़ी अजीब सी बात है...

1. काम को पूरा करके देने की समय सीमा तो 'के भीतर' होती है न कि 'के बाद' तो फिर भुगतान की समय-सीमा 'के बाद' क्यों?
2. काम जब आप मुझे दे रहे हैं तो फिर आपको भुगतान मिला या नहीं, इससे मुझसे क्या लेना-देना?

क्या आपको नहीं लगता कि इस समस्या पर पारिश्रमिक निर्धारण की समस्या के साथ-साथ ध्यान दिया जाना चाहिये?

कृपया अपने विचार और अनुभव साझा करके मार्गदर्शन करें....


Direct link Reply with quote
 

srujaa_27
India
Local time: 17:53
Member (2012)
English to Marathi
+ ...
दस,पंद्रह या तीस दिनों के बाद.....? Nov 20, 2012

Ashutosh Ji,
Iagree with you completely. I also have faced this problem with certain agencies. one more problem that I have had to face often is that agencies/ project managers expect instant replies to their mails and then they refuse to acknowledge the translated files with the same promptness. Have you also faced this issue?

Normally the trend is the payment is within 15, 30 days after the date of invoice receipt.. I have worked for agency who starts counting days from the end of the month even if my invoice has reached them on the 5th of that month.. Is this a normal procedure?

Please advise?

Regards
Srujaa


Direct link Reply with quote
 

vinod sharma  Identity Verified
India
Local time: 17:53
Member (2011)
English to Hindi
+ ...
अनुवाद समय पर, भुगतान कब? Nov 20, 2012

अऩुवाद कार्य, खासकर भारत में अत्यंत जोखिम भरा है। अनुवाद गुणवत्तापूर्ण और नियत समय-सीमा के अंदर करके देने की बाध्यता होती है, लेकिन भुगतान की कोई बाध्यता नहीं है। अनुवाद कार्य के बल पर फलती-फूलती कंपनियां और एजेंसियां इस संबंध में कतई गंभीर नहीं हैं कि उनको कमा कर देने वाले अनुवादकों को समय पर भुगतान हो रहा है या नहीं। एक पेशेवर अनुवादक का लगभग एक लाख रुपये का भुगतान हमेशा बकाया रहता है। इसका मूल कारण है अनुवाद-क्षेत्र का असंगठित होना। द्वित्तीयक कारण है श्रम की बहुलता- जी हाँ, यद्यपि यह बौद्धिक क्षमता का क्षेत्र है, किंतु हजारों श्रमिक (तथाकथित अनुवादक) भी इस क्षेत्र में लगे हुए हैं- एक दैनिक श्रमिक की दर पर अनुवाद करने में। इस कारण कई बार, या कहें लगभग हर बार स्तरीय अनुवादकों की उपेक्षा करके इन श्रमिकों से अनुवाद करवा लिया जाता है। अतः संगठन की आवश्यकता का महत्व हमें समझना ही होगा।

Direct link Reply with quote
 

Ashutosh Mitra  Identity Verified
India
Local time: 17:53
Member (2011)
English to Hindi
+ ...
TOPIC STARTER
"दस,पंद्रह या तीस दिनों के बाद.....?" Nov 21, 2012

srujaa pattnaik wrote:

1.I also have faced this problem with certain agencies. one more problem that I have had to face often is that agencies/ project managers expect instant replies to their mails and then they refuse to acknowledge the translated files with the same promptness.
2. I have worked for agency who starts counting days from the end of the month even if my invoice has reached them on the 5th of that month.. Is this a normal procedure?



1. यह कुछ ऐसा लगता है जैसे...मतलब निकल गया है तो पहचानते नहीं...सृजा जी, आप दुरुस्त फरमा रही हैं। कुछ एजेंसियों में ई-मेल (पावती मेल) न देने का कुछ रिवाज सा है। खैर ऐसी एजेन्सियों के साथ अब आदत हो गयी है क्योंकि अगर उस जॉब की कोई जवाबी मेल आती है तो मैं अब जान जाता हूँ कि यह जवाब नहीं, समस्या मेल है।

2. हाँ एक विदेशी एजेंसी मेरे पास भी ऐसी है जिसके साथ विगत तीन सालों से मेरा काम निरंतर चल रहा है। लेकिन वे इनवाइस प्रस्तुत किये जाने वाले माह की अंतिम तारीख से तीस दिनों के भीतर भुगतान करते हैं, और आज तक मुझे उनको एक बार भी रिमाइंड नहीं करना पड़ा।

आशा है, आपको कुछ हद तक अंदाज़ लग गया होगा......


Direct link Reply with quote
 

srujaa_27
India
Local time: 17:53
Member (2012)
English to Marathi
+ ...
दस,पंद्रह या तीस दिनों के बाद.....? Nov 21, 2012

Thanks Ashutosh Ji

You answer helped me understand things better.

Regards
Srujaa

[Edited at 2012-11-21 06:05 GMT]


Direct link Reply with quote
 

Ashutosh Mitra  Identity Verified
India
Local time: 17:53
Member (2011)
English to Hindi
+ ...
TOPIC STARTER
संगठन की आवश्यकता... Nov 21, 2012

vinod sharma wrote:

1. अऩुवाद कार्य, खासकर भारत में अत्यंत जोखिम भरा है।
2. अनुवाद कार्य के बल पर फलती-फूलती कंपनियां और एजेंसियां इस संबंध में कतई गंभीर नहीं हैं कि उनको कमा कर देने वाले अनुवादकों को समय पर भुगतान हो रहा है या नहीं।
3. इसका मूल कारण है अनुवाद-क्षेत्र का असंगठित होना। द्वित्तीयक कारण है श्रम की बहुलता- जी हाँ, यद्यपि यह बौद्धिक क्षमता का क्षेत्र है, किंतु हजारों श्रमिक (तथाकथित अनुवादक) भी इस क्षेत्र में लगे हुए हैं- एक दैनिक श्रमिक की दर पर अनुवाद करने में। इस कारण कई बार, या कहें लगभग हर बार स्तरीय अनुवादकों की उपेक्षा करके इन श्रमिकों से अनुवाद करवा लिया जाता है।
4.अतः संगठन की आवश्यकता का महत्व हमें समझना ही होगा।


विनोद जी,
आप सही फरमा रहे हैं....जरूरत क्षेत्र को संगठित करने की है, और फ्रीलांसरों को एक मंच पर आना ही होगा। एक ऐसा मंच जो सिर्फ इस बाजार से जुड़ी समस्याओं को प्रमुखता दे।


Direct link Reply with quote
 

Kapil Swami  Identity Verified
India
Local time: 17:53
English to Hindi
संगठन की आवश्‍यकता Nov 26, 2012

आशुतोष जी, विनोद जी,


मेरा ख्‍याल है कि अनुवादक संघ को कुछ इसी उद्देश्‍य के लिए शुरू किया गया था। और यह बात हम सभी को स्‍वीकार करनी चाहिए कि गाहे-बगाहे अपनी पीड़ा प्रकट करने से आगे विशेष हम लोगों ने इस दिशा में कुछ खास नहीं किया है। विनोद जी समेत आप लोग तमाम अवसरों पर कुछ सार्थक कदम उठाने की अपील करते रहते हैं लेकिन कुछेक अनुवादकों को छोड़कर लगता है बाकी अनुवादकों के लिए यह दुनिया शायद बहुत अच्‍छा अनुभव दे रही है या यह भी हो सकता है कि उन्‍हें ऐसी सामूहिकता में विश्‍वास न हो या उपयोगिता न समझ आती हो। जहां तक इस दिशा में चिंतित कुछेक अनुवादकों की बात है उन्‍हें सामूहिकता बढ़ाने की दिशा में ठोस कदम उठाने होंगे। अब हमें वर्चुअल स्‍पेस से आगे बढ़कर कार्रवाई करने की जरूरत है।


Direct link Reply with quote
 

Ashutosh Mitra  Identity Verified
India
Local time: 17:53
Member (2011)
English to Hindi
+ ...
TOPIC STARTER
अच्छे अनुभव, सामूहिकता, ठोस कार्य Nov 26, 2012

Kapil Swami wrote:

1.कुछेक अनुवादकों को छोड़कर लगता है बाकी अनुवादकों के लिए यह दुनिया शायद बहुत अच्‍छा अनुभव दे रही है या यह भी हो सकता है कि उन्‍हें ऐसी सामूहिकता में विश्‍वास न हो या उपयोगिता न समझ आती हो।
2.जहां तक इस दिशा में चिंतित कुछेक अनुवादकों की बात है उन्‍हें सामूहिकता बढ़ाने की दिशा में ठोस कदम उठाने होंगे।
3.अब हमें वर्चुअल स्‍पेस से आगे बढ़कर कार्रवाई करने की जरूरत है।


अच्छा बताया आपने....

1.हमारा मानना है कि जिनको अच्छा अनुभव हो रहा है, उनको भी उस अनुभव को साझा करना चाहिये..क्योंकि हमें भी सीखने का अवसर मिलेगा कि अच्छे अनुभवों का सृजन कैसे करें।
2.रही बात सामूहिकता में ठोस कदमों की, तो यह एक लंबी और कठिन प्रक्रिया है क्योंकि जैसे-जैसे अनुभव साझा करने वालों की संख्या बढ़ेगी...समस्याओं के समाधान भी मिलते जायेंगे...कोई भी समस्या समाधान से परे नहीं है।
3.वर्चुअल स्पेस में ही करने को बहुत कुछ है। मंच मजबूत है, उत्तरोत्तर होता जा रहा है और होगा।

प्रस्तावों और प्रतिबद्धताओं को पारित करने से कुछ न होगा (हमारा मानना है)..जरूरत अपने भीतर ईमानदारी का सृजन करने और स्वयं उसका पालन करने की है। अगर हम पेशेगत नीतियों (तार्किक) का स्वतः पालन करें तो सब संभव है।

सादर,

[Edited at 2012-11-26 06:08 GMT]

[Edited at 2012-11-26 06:09 GMT]


Direct link Reply with quote
 

Lalit Sati  Identity Verified
India
Local time: 17:53
Member (2010)
English to Hindi
+ ...
काम की डेडलाइन होती है, पेमेंट की नहीं! Nov 26, 2012

"दस,पंद्रह या तीस दिनों के बाद.....?" आशुतोष जी, यह अवधि कभी-कभी तो पांच-पांच महीने की हो जाती है। भले ही अंग्रेज़ी में वे 45 दिन में भुगतान करने की बात क्यों न लिखते हों, किंतु कुछ भारतीय एजेंसियों के यहां तो यह अवधि 45 दिन के "बाद" ही शुरू होती है "पहले" नहीं और यह "बाद" भी बड़ा लंबा खिंच जाता है।
अपनी कमाई की लंबी जुदाई खत्म होने का नाम ही नहीं लेती है।


...

कपिल भाई की स्वतंत्र एवं असंगठित अनुवादकों की एकजुटता को आगे बढ़ाने की दिशा में कुछ और ठोस कदम उठाने की अपील गौरतलब है।

...

यदि भुगतान न मिलने या बहुत-बहुत देर से मिलने के संबंध में कानूनी कार्रवाई विषयक कोई ठोस राय हो तो कृपया उसे भी साझा करें। इस बारे में किसी अनुवादक साथी की नज़र में कोई उपयुक्त पात्र हो तो यह जानकारी कई के बड़े काम की होगी। फिलहाल एक मामले में ऐसी सलाह की मुझे बड़ी दरकार है।
वैसे काश कोई मंच या समूह इस तरह के मामले उठाने के लिए होता।


Direct link Reply with quote
 

Ashutosh Mitra  Identity Verified
India
Local time: 17:53
Member (2011)
English to Hindi
+ ...
TOPIC STARTER
साझीदारों से चर्चा... Nov 26, 2012

Lalit Sati wrote:

1.अपनी कमाई की लंबी जुदाई खत्म होने का नाम ही नहीं लेती है।


2.फिलहाल एक मामले में ऐसी सलाह की मुझे बड़ी दरकार है।

वैसे काश कोई मंच या समूह इस तरह के मामले उठाने के लिए होता।


बस, कह गये आप...

1.दरअसल हमें 'के बाद' शब्द से एलर्जी है। जब काम की अवधि तय है यानी 'से पहले' या 'तक' देना है तो ...भुगतान 'के बाद क्यों'..?

2. आप किस तरह की सलाह की बात कर रहे हैं? विषय/ मामला क्या है, यदि ठीक न लगे तो किसी की नाम मत लीजिये....लेकिन उचित समझिये तो साझा करिये।


हमने अपने स्तर पर काम तय करते समय अपने ढ़ंग से इस विषय पर पूछना शुरु कर दिया है, साथियों को भी इस पर अपने व्यवसायिक साझीदारों से खुल कर बात करनी चाहिये, हमें नहीं लगता कि इस विषय पर चर्चा किसी साझीदार को अन्यथा लगेगी।

सादर,

[Edited at 2012-11-26 07:47 GMT]


Direct link Reply with quote
 


To report site rules violations or get help, contact a site moderator:

Moderator(s) of this forum
Amar Nath[Call to this topic]

You can also contact site staff by submitting a support request »

दस,पंद्रह या तीस दिनों के बाद.....?

Advanced search






BaccS – Business Accounting Software
Modern desktop project management for freelance translators

BaccS makes it easy for translators to manage their projects, schedule tasks, create invoices, and view highly customizable reports. User-friendly, ProZ.com integration, community-driven development – a few reasons BaccS is trusted by translators!

More info »
SDL Trados Studio 2017 Freelance
The leading translation software used by over 250,000 translators.

SDL Trados Studio 2017 helps translators increase translation productivity whilst ensuring quality. Combining translation memory, terminology management and machine translation in one simple and easy-to-use environment.

More info »



Forums
  • All of ProZ.com
  • Term search
  • Jobs
  • Forums
  • Multiple search