दूसरे अनुवादकों के कार्य की समीक्षा
Thread poster: Ashish Kumar Jaiswal

Ashish Kumar Jaiswal  Identity Verified
India
Local time: 23:51
Member (2013)
English to Hindi
+ ...
Dec 14, 2015

प्रिय अनुवादक साथियों,

2/3 महीने पहले यूरोप की एक एजेंसी के लिए कुछ अनुवाद / प्रूफशोधन कार्य किया था। कार्य मिलने से पहले उस एजेंसी का एक सैम्पल भी किया था, सैम्पल अनुमोदित होने के बाद काम मिला था।

आज उसी एजेंसी ने मुझसे सम्पर्क करके कहा कि मैं कुछ दूसरे अनुवादकों के सैम्पल की समीक्षा करूं।

सैम्पल फाइल मिलने पर मैने देखा कि यह ठीक वही सैम्पल है जो मैने किया था और अनुमोदित हुआ था।

कहीं न कहीं दूसरे साथियों के अनुवाद की समीक्षा करते समय मन में कुछ न कुछ सकारात्‍मक या नकारात्‍मक झुकाव हो सकता है, विशेष तौर पर जबकि प्रत्येक अनुवादक की लेखन शैली में थोड़ी बहुत भिन्‍नता अवश्य होती है।

इस बात को ध्यान में रखने में रखते हुए मैने एजेंसी को निम्न उत्तर दिया। आप लोगों के विचार में क्‍या मैने ठीक किया है, या मुझे कुछ भिन्‍न प्रतिक्रिया करनी चाहिए थी, कृपया अपने विचारों से अवगत करवाएं।


Hi *******,

I personally I had completed this sample and was approved too.

I am afraid while reviewing the sample of other translators I may have a certain bias when they wouldn't be using he very same words / sentence structuring which I did.

It poses a conflict of interest which I do not want to arise.

Hope you understand my inability.




Best,
Ashish

[Edited at 2015-12-14 20:07 GMT]


 

Dhananjay Chaube
India
Local time: 23:51
Member (2015)
English to Hindi
+ ...
आपके निर्णय से पूर्ण सहमति Dec 14, 2015

आपका यह निर्णय नैतिकता व सच्ची पेशेवर भावना का परिचायक है। क्षुद्र लाभों की बजाय उदात्त भावना का अवलंबन न केवल पेशेवर उत्कर्ष का ही मार्ग प्रशस्त करता है, बल्कि इससे आनंदपूर्ण जीवन की भी आधारशिला पड़ती है।

 

Peoplesartist  Identity Verified
India
Local time: 23:51
Member (2007)
English to Hindi
+ ...
नमस्कार Dec 14, 2015

मैं आप से एकदम से असहमत हूँ। अरे भाई, आपको सिर्फ यह देखना था कि मोटे तौर पर क्या वे अनुवाद काम लायक ठीक-ठाक हैं।

ज्यादा मीन-मेख नहीं निकालना चाहिए। उदार और उदात्त होने की जरूरत हैं। हाँ अनुवाद एकदम से कचरा और अस्वीकार्य हो तो बात अलग

है, वरऩा सुनो अंतरात्मा की आवाज और धाँय से दो उत्तर।


 

Lalit Sati  Identity Verified
India
Local time: 23:51
Member (2010)
English to Hindi
+ ...
हित टकराव नहीं Dec 15, 2015

मेरे विचार से, रिव्यूवर का काम है कि वह दिए गए अनुवाद का ऑब्जेक्टिव यानी वस्तुनिष्ठ मूल्यांकन करे, जिसमें सब्जेक्टिव होने की कोई गुंजाइश न हो। एकदम पेशेवर रूप में। आप किसे तरजीह देते हैं यह अलग मसला है। तरजीही बदलाव करने के बनिस्पत आपको उन ग़लतियों को ढूँढना होता है जो अनुवाद को कमज़ोर कर रही हैं। और समीक्षा में, केवल लेखन शैली की समीक्षा ही शामिल नहीं है। आपको वर्तनी, व्याकरण, वाक्य संरचना, विषय अनुकूल शब्दावली का प्रयोग आदि बातें भी देखनी होती हैं। यदि इन सभी कसौटियों पर कोई अनुवाद खरा उतरता है तो आप उस सैम्पल को पास कर देते हैं। इस प्रकरण में मुझे हित टकराव जैसी कोई बात नहीं दिखाई पड़ती। समीक्षाधीन सैम्पल का अनुवाद पहले ख़ुद कर लेने की स्थिति में थोड़ा सब्जेक्टिव हो जाने का जोखिम अवश्य है, लेकिन पेशेवराना स्पिरिट और ऑब्जेक्टिव असेसमेंट की बाध्यता का पालन करते हुए हम इस काम को भी बेहतर ढंग से अंजाम दे सकते हैं।

 


To report site rules violations or get help, contact a site moderator:

Moderator(s) of this forum
Amar Nath[Call to this topic]

You can also contact site staff by submitting a support request »

दूसरे अनुवादकों के कार्य की समीक्षा

Advanced search






SDL Trados Studio 2019 Freelance
The leading translation software used by over 250,000 translators.

SDL Trados Studio 2019 has evolved to bring translators a brand new experience. Designed with user experience at its core, Studio 2019 transforms how new users get up and running, helps experienced users make the most of the powerful features, ensures new

More info »
Déjà Vu X3
Try it, Love it

Find out why Déjà Vu is today the most flexible, customizable and user-friendly tool on the market. See the brand new features in action: *Completely redesigned user interface *Live Preview *Inline spell checking *Inline

More info »



Forums
  • All of ProZ.com
  • Term search
  • Jobs
  • Forums
  • Multiple search